मुगल हरम में मनोरंजन के लिए खेला जाता था ये खेल – नई ताकत

मुगल हरेम: अकबर के समय में मुगल बादशाहों का शासन था और भारत पर मुगलों का शासन था। उस समय बाद में मुगल शाहों ने अपनी रानियों और महिलाओं के लिए अलग-अलग महल बनवाए थे, जिन्हें ‘शाही हरम’ कहा जाता था। यहां रहने वाली महिलाएं नृत्य, उद्यान, पाठ आदि कर सकती थीं, जिससे उनका मनोरंजन होता था। इस लेख में हम इस मुगल हरम की व्यवस्था, खेल और मनोरंजन के बारे में विस्तार से जानेंगे।

अकबर के राज में हुई मुगल हरम की व्यवस्था

अकबर ने बाद में मुगल शाह के रूप में ऐसी व्यवस्था स्थापित की, जिसमें रानियों और महिलाओं के लिए अलग-अलग महल बनवाए गए। इन महलों में महिलाएं विभिन्न मनोरंजन गतिविधियां जैसे नृत्य, रोपण, कविता पाठ, धारण कर सकती थीं। यहां महिलाएं अपनी होश से पढ़ने के बारे में अलर्ट के साथ रहती हैं।

मुगल हरम में मनोरंजन और खेल

मुगल हरम में सिर्फ बादशाह ही प्रवेश कर सकते थे। मुगल शहजादों को भी अपनी हरम में प्रवेश की अनुमति नहीं थी। हालांकि, महिलाएं अलग-अलग खेल खेल सकती थीं, जो मनोरंजन के लिए खेले जाते थे। मुगल बादशाहों का पसंदीदा खेल पाशबंदी था। इस खेल में दो टीमें आपस में प्रतिस्पर्धा करती रहीं और जीतने की कोशिश करती रहीं। इस खेल में बने घोड़े इस्तेमाल किए गए।

इसके अलावा, मुगल रानियों और बादशाहों ने अन्य खेल भी खेले जैसे कि कुश्ती, ताश, बैकगैमौन, तीरंदाजी और सांपों से खेलना। ये खेल उनके मनोरंजन के साथ-साथ स्वास्थ्य और तनाव को कम करने के लिए भी महत्वपूर्ण थे।

मुगल हरम: अपडेट और महिलाओं की भूमिका

आज के समय में, मुगल हरम का प्रभाव सबसे अधिक दिखाई दे रहा है। यहां भी महिलाएं पाशबंदी खेलती हैं, लेकिन कुछ ही जगहों पर महिलाओं को यह मिलता है। हालांकि, मुगल हरम में महिलाओं द्वारा खेले जाने वाले अन्य खेलों के बारे में विस्तृत जानकारी उपलब्ध नहीं है। अकबर की रानी जोधाबाई के बारे में इतिहासकारों के संबंध हैं कि उन्हें शिकार का शौक था और वे इसे निभाते थे।

अकबर के राज में मुगल हरम व्यवस्था के तहत अलग-अलग महलों का निर्माण हुआ। मुगल रानियां और महिलाएं यहां नृत्य, बागवानी, कवितापाठ आदि मनोरंजन करती थीं। पाशबंदी जैसे खेलों के अलावा कुश्ती, ताश, बैकगैमौन, एरोंदाजी और सांपों से भी उनका मनोहारी शौक था।

आज के दौर में भी इस प्रथा का पालन किया जाता है और महिलाएं पाशबंदी खेलती हैं। हालांकि, अन्य खेलों का विवरण विस्तार से ज्ञात नहीं है। मुगल हरम ने महिलाओं को मनोरंजन के साथ-साथ स्वास्थ्य और तनाव कम करने का भी मौका दिया।

ये भी पढ़ें-मुगल इतिहास : ये मुगल बादशाह था एक नंबर का नशा

ये भी पढ़ें-Mugal Harem History: बादशाहों के बहुत रानियों से भी ज्यादा खास होते थे मुगल हरम के किन्नर …

यह पोस्ट आपको कैसा लगा ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *