‘पुरुषों से बेहतर महिलाएं, बंगाल में CM भी महिला, मंत्री और विधायक भी दूसरी पार्टियों से ज्यादा’, लोकसभा में बोलीं TMC सांसद काकोली

Women Reservation Bill News: टीएमसी की सांसद काकोली घोष दस्तीदार ने कहा है कि बीजेपी की तरफ से लगातार महिलाओं को नीचा दिखाने की कोशिश की जा रही है. कहा जा रहा है कि महिलाएं पुरुषों के बराबर नहीं हैं. उन्होंने कहा कि महिलाएं पुरुषों के बराबर हैं. हम महिलाएं पुरुषों से ज्यादा बेहतर भी हैं. महिला आरक्षण बिल पर बहस के दौरान टीएमसी सांसद ने ये बातें कहीं. इस बिल पर लोकसभा में काफी ज्यादा हंगामा देखने को मिल रहा है.

टीएमसी सांसद ने कहा कि इस तरह का बिल हमारे राज्य पश्चिम बंगाल में पहले से ही मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने लागू किया हुआ है. पश्चिम बंगाल देश का एकमात्र ऐसा राज्य है, जहां पर महिला मुख्यमंत्री है. बीजेपी की सरकार 16 राज्यों में है, लेकिन एक भी महिला सीएम नहीं है. उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी इस बिल का समर्थन करती है. 1996 से ही इस बिल का समर्थन ममता बनर्जी करती आ रही हैं और उनकी लंबे समय से इसे लागू करने की मांग रही है. 

टीएमसी में पहले से ही 33 फीसदी आरक्षण

सांसद काकोली घोस ने कहा कि पश्चिम बंगाल विधानसभा में सबसे ज्यादा महिलाएं हैं और सबसे ज्यादा मंत्री भी हैं. हमारी पार्टी में पहले से ही महिलाओं के लिए 33 फीसदी आरक्षण की व्यवस्था रही है. इस लोकसभा में टीएमसी की लगभग 40 फीसदी सांसद महिलाएं हैं. उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी ने महिलाओं के उत्थान के लिए कई सारे प्रोग्राम चलाए हैं. स्वास्थ्य से लेकर शिक्षा तक के क्षेत्र में महिलाओं के उत्थान के लिए योजनाएं चलाई जा रही हैं. 

टीएमसी सांसद ने सवाल उठाया कि एनडीए गठबंधन को इस बिल को लाने में इतना वक्त क्यों लगा. इस बिल को 2014 में ही क्यों नहीं लाया गया. अब क्यों लोकसभा चुनाव से ठीक छह महीने पहले इस बिल को लाया जा रहा है. परिसीमन को बिल के साथ क्यों जोड़ा रहा है. ये सरासर गलत है. उन्होंने कहा कि मेडल लाने वाली बेटियों के साथ यौन शोषण किया गया, जबकि उसके आरोप आज संसद में बैठे हुए हैं. 

यह भी पढ़ें: ‘आप बिल को लॉलीपॉप बनाकर घुमाते रहे, ये आपका नहीं, BJP और पीएम का’, सोनिया के भाषण पर निशिकांत दुबे का पलटवार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *