समानांतर और व्यावसायिक फिल्मों के बीच का अंतर अब नहीं रहा : नाना पाटेकर | Loktej मनोरंजन News

फिल्म ‘द वैक्सीन वॉर’ में अभिनेता नाना पाटेकर और अभिनेत्री पल्लवी जोशी मुख्य भूमिका में हैं। ट्रेलर रिलीज होने के बाद फिल्म के डायरेक्टर समेत लीड एक्टर्स ने मीडिया से बातचीत की। इस मौके पर नाना पाटेकर ने बॉलीवुड के मौजूदा हालात और फिल्मों पर टिप्पणी की।

फिल्म के ट्रेलर लॉन्च पर नाना पाटेकर से समानांतर और व्यावसायिक फिल्मों के बीच अंतर के बारे में पूछा गया। इस पर अभिनेता ने कहा, “पहले की समानांतर और व्यावसायिक फिल्मों के बीच का अंतर अब नहीं रहा। ओटीटी प्लेटफॉर्म ने हर फिल्म को एक नया प्लेटफॉर्म दिया है। फिलहाल समानांतर फिल्म की हालत खराब है।”

नाना पाटेकर ने कहा, “हाल ही में मैं मौजूदा हिट फिल्म देखने के लिए थिएटर गया था, लेकिन मैं उस फिल्म को पूरा नहीं देख सका। एक ही विषय को बार-बार दिखाकर दर्शकों का मनोरंजन किया जा रहा है। अलग-अलग विषय नहीं दिखाए गए हैं।”

नाना पाटेकर ने बॉलीवुड में वंशवाद पर टिप्पणी करते हुए कहा, “अब मैं एक अभिनेता हूं और मेरा बेटा भी अभिनेता बनना चाहता है। अगर एक फिल्म नहीं चलती, तो दूसरी बना ली जाती है। यदि दोनों फिल्में असफल हो जाती हैं, तो 10 फिल्में और बनाई जाती हैं। समय के साथ लोग ऐसे कलाकारों को स्वीकार करने लगते हैं। दर्शकों को उनकी सबसे खराब फिल्में देखनी पड़ती हैं। ऐसे में जब आपके सामने फिल्म ‘द वैक्सीन वॉर’ प्रदर्शित होती है तो दोनों फिल्मों के बीच का अंतर साफ नजर आता है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *