मानसून में स्वास्थ्य संबंधी टिप्स गूंथे आटे के साइड इफेक्ट हिंदी में

स्वास्थ्य सुझाव : बारिश के मौसम में संक्रमण का ख़तरा ज़्यादा रहता है। स्वास्थ्य देखभाल के लिए विशेष दवा भंडार की सलाह दी गई है। इस मौसम में जो बदलाव होते हैं, उसके कारण शरीर का मेटाबॉलिज्म धीमा हो जाता है। इसी कारण से इंटरनेट पर निवेशकों का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे मौसम में सबसे जरूरी बदलाव होता है। इसलिए कुछ अनिवासी को जिम्मेदारी निभानी चाहिए। कई घरों में इस मौसम में आटा गूंथकर फ़रीज़ में रखा जाता है और बाद में उसे इस्तेमाल में लाया जाता है, जो खतरनाक हो सकता है। ऐसा करने से स्वास्थ्य खराब हो सकता है। आइये जानते हैं क्यों…

आटा खराब होने का खतरा

कई बार गूंथा आटा कई-कई दिनों तक इस्तेमाल होता है। आटा खराब होने से बचने के लिए उसे फ़िरोज़ में स्टोर कर दिया जाता है लेकिन गुंथे अपार्टमेंट में लोकतंत्र पैदा हो सकता है। कुछ ऐसे भी रिकॉर्ड हैं, जो फूड पॉयजनिंग के खतरे को भी बढ़ा सकते हैं। इसके अलावा एसिडिटी और कब्ज की समस्या भी हो सकती है।

बढ़ा हुआ गुण खतरनाक हो सकता है

कई शोधों में बताया गया है कि लो टेंपरेचर पर सबसे बड़े पैमाने पर बैक्टीरिया पैदा हो सकते हैं। बारिश के मौसम में लिस्ट मोनोसाइटोज़ेन्स नाम कारिया कई तरह के गंभीर खतरे का कारण बन सकता है। फ़्रिज़ की कम कीमत पर यह आसानी से बढ़ सकती है। इसलिए जब भी फ़िरोज़ में कुछ रखा, उससे पहले उसे अच्छी तरह से साफ़ कर लें।

गुंठा आटा रखने का तरीका

स्वास्थ्यशास्त्रियों के अनुसार, बीयर में रेस्टॉरेंट का ही प्रयोग करना चाहिए। अगर आटा गूंथकर फ़रिश्ते में रखना ही चाहते हैं तो जब उसे गूंथे में पानी की मात्रा नहीं रहेगी। क्योंकि ज्यादा पानी से आटा जल्दी खराब हो सकता है। गुंथे आतंकवादियों को फ़्रिज़ में रखने के लिए सुपरमार्केट या ज़िप लॉक बैग का उपयोग किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *