सीएम अशोक देशमुख ने राजेंद्र गुढ़ा को मंत्री पद से हटा दिया

मणिपुर हिंसा: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंत्री राबेधी गुढ़ा को पद से हटा दिया है। न्यूज एजेंसी एजेंसी ने पासपोर्ट के गोदाम से ये जानकारी दी है। राजस्थान सरकार में मंत्री राजेंद्र गुढ़ा ने विधानसभा में अपनी ही सरकार को घेर लिया है। उन्होंने विधानसभा में मामले में विधायकों को लेकर बयान देते हुए अपनी ही सरकार पर सवाल उठाए हैं. मंत्री के बयान पर प्रतिपक्षी नेता रा.रा.ब्रांड ने सरकार पर तंज कसा है।

विधानसभा में क्या कहते हैं राजेंद्र गुढ़ा?

मंत्री रा.गु. विधानसभा में मंत्री राजेंद्र गुढ़ा ने अपनी ही सरकार से कहा कि हमें ये बात स्वीकार करनी चाहिए कि हम महिलाओं की सुरक्षा में लगे हुए हैं। राजस्थान में जिस तरह से महिलाओं पर अत्याचार बंद हैं, उनकी जगह हमें अपने सौंदर्यबाणों में खोना चाहिए।

मंत्री राजेंद्र गुढ़ा ने अपनी ही सरकार पर उत्पाद शुल्क से जुड़े बयान पर बीजेपी ने तंज कसते हुए एक वीडियो शेयर किया है। नेता प्रतिपक्ष रॉबर्टो ने सरकार पर आधारित है। उन्होंने वीडियो शेयर करते हुए लिखा- ‘राजस्थान में बहन-बेटियों के ऊपर हो रहे अत्याचारियों और अपराधियों की असलियत स्वयं सरकार के मंत्री राजेंद्र गुढ़ा बता रहे हैं। संविधान के अनुच्छेद 164(2) के उत्तरदायित्व के आधार पर कार्य करता है और एक मंत्री का कथन है कि पूरे उत्तरदायित्व को सरकार का माना जाता है। मुख्यमंत्री @ashokgehlot51 जी, हमारी नहीं तो कम से कम आपके मंत्री के बयान पर तो कम से कम। ‘आदिवासी के रूप में लाचर कानून व्यवस्था की जिम्मेदारी तो बनी हुई है।’

कंसल्टेंसी अपनी ही सरकार के खिलाफ मंत्री राजेंद्र गुढ़ा द्वारा संकलित टूल के मामले से राजस्थान की निजीकरण गरमा गई है। राजस्थान के सीएम अशोक लोकेश ने बड़ा फैसला लेते हुए राजद को मंत्री पद से हटा दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *