राजगीर मलमास मेला 2023 बिहार के लिए नृत्य ऑडिशन

राजगीर में मलमास मेला शुरू होने के एक सप्ताह शेष रह गया है। देवी देवता 18 जुलाई की सुबह तक सभी अपने स्थान पर भ्रमण करें। ऐसे में इस बार मेले में मनोरंजन और भक्तों के लिए सम…

राजगीर के मलमास मेला

|

इंटरनेट

)राजगीर के मलमास मेला

राजगीर सरकारी मलमास मेला 2023 की अंतिम वर्षगाँठ पर हैं। प्रशासन से लेकर विभिन्न व्यापारी अपनी अल्पावधि दुकान धीरे-धीरे राजगीर में स्थापित करना चाहते हैं। मलमास मेला में दर्शकों के लिए नि:शुल्क मनोरंजन की व्यवस्था करने के उद्देश्य से स्थानीय कलाकारों की कला प्रस्तुत करने के लिए मंच की जाएगी। इसमें तरह-तरह के सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित होंगे।

कलाकारों के कलाकारों के लिए हुआ रॉब

मलमास मेले के 28 दिनों में नौ दिवसीय कला-संस्कृति एवं युवा विभाग के सौजन्य से सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित होंगे। शेष 19 तारीख एक ही बार में जिला प्रशासन के माध्यम से विभिन्न सरकारी, गैर सरकारी और गरीब जिले के स्थानीय कलाकारों के मंच पर प्रस्तुतियां दी जाएंगी। इन प्रस्तुतियों के चयन के लिए मंगलवार को नगर भवन में कई सरकारी कंपनियों के बच्चों ने दाखिला लिया और अपनी पढ़ाई शुरू कर दी।

14 जुलाई को निजी स्थानीय कलाकारों के दर्शन होंगे

पूर्व में 12 जुलाई को निजी संगीत वाद्ययंत्रों और स्थानीय कलाकारों की जनजातियों की उत्पत्ति थी, वैज्ञानिक और वैज्ञानिक अनुसंधान के कारण अब 14 जुलाई की तारीख निर्धारित की गई है। जिला प्रशासन द्वारा सभी संबंधित निजी आश्रमों, वाद्ययंत्रों और स्थानीय कलाकारों को वे नगर भवन में कर्पूरी भवन या टाउन हॉल भी कहा जाता है। 14 जुलाई 2023 को रात्रि 10:00 बजे से प्रारंभिक दर्शनीय स्थलों में भाग लें। जिससे कि मलमास मेले में आए भिक्षुओं और भक्तगणों को मनोरंजन उपलब्ध कराया जा सके।

मलमास मेला राजगीर में चार चिकित्सा रेटिंग प्रतिनियुक्त

इधर, बिहार के स्वास्थ्य विभाग ने मलमास मेले के लिए चार चिकित्सा संस्थानों की प्रतिनियुक्ति सिविल सैलून के कार्यालयों का उद्घाटन किया है। विभाग द्वारा जारी आदेश के अनुसार हृदय रोग विशेषज्ञ डा. दिनेश कुमार, डा. रामप्रवेश चौधरी, स्त्री रोग विशेषज्ञ दा. ये सभी डॉक्टर एक माह तक चलने वाले मलमास मेले में बेरोजगारी का इलाज करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *