संगीत सिर्फ मनोरंजन ही नहीं बल्कि आपकी सेहत के लिए भी है मज़ेदार, जाने कैसे

अगर आप संगीत सुनने के शौकीन हैं तो यह आपके लिए बहुत बड़ी ख़ुशख़बरी है क्योंकि संगीत सुनने से तन और मन दोनों ही बहुत स्वस्थ होते हैं। यूँ तो हम मनोरंजन के लिए हर-रोज़ म्यूजिक (संगीत) गाते हैं लेकिन आपने कभी सोचा है कि म्यूजिक से सिर्फ मनोरंजन ही नहीं होता बल्कि हमारी सेहत पर भी अच्छा असर होता है। रिसर्च में बताया गया है कि अगर आपको अपनी पसंद का ज़ाइकल प्रोडक्ट है तो आपका मूड खुश-मिजाज़ रहता है और व्यू-समझने की शक्ति भी बहुत बढ़िया है। इतना ही नहीं अगर आप किसी बीमारी से पीड़ित हैं तो वो समस्या भी धीरे-धीरे-धीरे-धीरे ठीक होने लगती हैं। आज हम आपको म्यूजिक (संगीत) सुनने के कुछ ऐसे फायदे बताएंगे जो आपके संगीत से कोसो दूर हैं आपने कभी सोचा भी नहीं होगा कि संगीत हमारे लिए इतना बढ़िया है।

* संगीत श्रवण से भरपूर है स्मरण शक्ति : कुछ लोगों को संगीत सुनने की आदत होती है। उनके अनुसार, इससे वे बेहतर पढ़ाई कर सकते हैं। अब शोध से उनकी बात भी साबित होती है। नियमित संगीत प्रवचन बुढापे की प्रक्रिया को कम करता है। डिमेंशिया के शिकार लोगों पर भी इसका अच्छा असर होता है। संगीत में रुचि लेने से शरीर में डोपामाइन हार्मोन का स्राव होता है, जो जोश व प्रेरणा देता है। संगीत के प्रति बच्चों की बातचीत उनकी रचनात्मक रचना है।

*दर्द कम करे : दर्द दर्द तन का हो या मन का, दोनों संगीत में ही अपनी छाप छोड़ते हैं। इस समस्या से बचने के लिए संगीत में गजब की क्षमताएं मौजूद हैं। एक अध्यापन में पाया गया कि असहनीय दर्द में जब मरीज़ों को बताया गया तो वह अपने दर्द की प्रतिक्रिया को भूल गया। क्योंकि दर्द और चिंता से पीड़ित व्यक्ति को बहुत जल्दी संगीत में दवा मिल जाती है और दर्द से तुरंत राहत महसूस होती है।

*तनाव और बच्चों में होती है कमी : बिना शब्दों वाला धीमी गति का मधुर संगीत प्रवचन मन को शांति देता है। तनाव कम होता है और बेहतर हुआ हृदय गति में सुधार आता है। श्वास प्रक्रिया सामान्य है। घाटे में तत्काल आराम है। संगीत परिक्रमा, गाएं या साएलें, सभी शास्त्रीय में इसका अच्छा प्रभाव देखने को मिलता है। विशेषज्ञ के अनुसार नियमित संगीत वैज्ञानिक फिजियोलॉजी और मानसिक बोथरी स्तर पर सार्वभौम देता है। नींद भी अच्छी आती है। डर, कुंठा और क्रोध कम होता है। मन खुश रहता है।

*पोर्टल बेहतर होता है: आपकी थकान को दूर करके साइकल कंसल्टेंसी में बढ़ोतरी होती है जिससे व्यायाम में सहायता मिलती है। ब्रूनल विश्वविद्यालय में हुई रिसर्च के अनुसार संगीत और हृदय के व्यायाम के दौरान एक गहरा रिश्ता रहता है। इसलिए व्यायाम के बारे में जानना नहीं भूले। वॉक्स के वक्त मूड अच्छा रहता है और हमें लंबे समय तक व्यायाम करने के लिए प्रेरित करते हैं। इसलिए ही जिम में स्लोवेज़ को प्ले किया जाता है।

* शरीर स्वस्थ रहता है : शोध के अनुसार, संगीत श्रवण से शरीर के लिए उपयोगी सिस्टम के स्तर में सुधार होता है। हम उन एंटीबॉडी के खिलाफ़ कर रहे हैं, जो बेचने की बात हमारे शरीर की सुरक्षा करते हैं। साथ ही पाचन प्रक्रिया पर भी अच्छा प्रभाव देखने को मिलता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *